अवसरों की कमी ने महिलाओं को एक-दूसरे के सामने खड़ा किया, एक-दूसरे को नीचे खींचने की कोशिश करती हैं – प्रियंका चोपड़ा

 

लॉस एंजिलिस। महिला ही महिला की दुश्मन है। यह रोजाना समाज के बीच देखने में आता है। काम की जगहों पर भी महिलाओं का यही व्यवहार है। एक दूसरे को पछाड़कर आगे बढ़ने की होड़ लगी रहती है। इसे शायद आज की सर्वाधिक चर्चित अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने भी काफी देखा-झेला है। अपने पति निक जोनस के साथ दुनिया भर में घूम रही अदाकारा प्रियंका चोपडा का मानना है कि अवसरों की कमी ने महिलाओं को एक-दूसरे के सामने खड़ा किया है. उनका कहना है कि जहां दो पुरुष कलाकारों के भाईचारे को ब्रोमांस का नाम दिया जाता है, वहीं अभिनेत्रियों को लेकर यह धारणा है कि वे एक-दूसरे को नीचे खींचने की कोशिश करती हैं. ब्यूटीकॉन लॉस एंजिलिस में प्रियंका ने कहा, मुझसे कई साक्षात्कारों में पूछा गया है, आप एक महिला कलाकार के साथ काम कर रही हैं..क्या आपकी अच्छी बातचीत है? या कोई कैट फाइट है? लेकिन जब पुरुष कलाकार की बात आती है तो वह ब्रोमांस होता है. और किसी को कोई परेशानी नहीं होती.
उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि अवसरों की कमी ने महिलाओं को एक-दूसरे के खिलाफ खड़ा किया है. क्योंकि केवल पांच स्थान हैं जहां केवल किसी महिला को लिया जा सकता है, इसलिए हम एक-दूसरे को बाहर करने की कोशिश करते हैं. ई ऑनलाइन की खबर के अनुसार 37 वर्षीया अदाकारा का मानना है कि नजरिया बदलने की जरूरत है, ताकतवर महिला को अन्य महिलाओं की मदद करनी चाहिए. उन्होंने कहा, एक-दूसरे के लिए अधिक अवसर उत्पन्न करने पर ही आपसी प्यार बढ़ेगा. प्रियंका ने कहा, हम दुनिया की 50 प्रतिशत आबादी हैं, हमें हर क्षेत्र में अपनी मौजूदगी दर्ज कराने की जरूरत है. ताकतवर लोगों के दूसरों को (महिलाओं को) ताकतवर बना, हमें एक दूसरे को सशक्त करने की जरूरत है. अदाकारा की आने वाली बॉलीवुड फिल्म द स्काई इज पिंक है.

फेसबुक या कहीं भी शेयर करो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp

फेसबुक या कहीं भी शेयर करो