मोदी सरकार की जोर-जबरदस्ती, मनमानी पर बोले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन, भारत गहरे संकट से गुजर रहा है और इसे समान विचार वाले लोगों के सहयोग की जरूरत है.

 

नयी दिल्ली। मोदी सरकार लगातार जनविरोधी और पूंजीपतिपरस्त काम कर रही है। जनता का रोजगार और सुविधाएं तथा संवैधानिक अधिकार छीनने का काम वह देशहित और जनतहित के नाम पर कर रही है। संचार माध्यमों को अपना गुमाम बनाकर वह अपनी हर गलत बात को वह जनता में सही ठहराने में कामयाब है।
पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सोमवार को कहा कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को समाप्त करने का सरकार का फैसला देश के अधिकतर लोगों की अभिलाषा के अनुसार नहीं है. भारत के विचार को जीवंत रखना है, तो जम्मू-कश्मीर के नागरिकों की आवाज सुनी जानी चाहिए. सिंह ने कहा कि भारत गहरे संकट से गुजर रहा है और इसे समान विचार वाले लोगों के सहयोग की जरूरत है.
उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि देश की अधिकांश जनता की अभिलाषा का इसमें ध्यान नहीं रखा गया. महत्वपूर्ण है कि इन सभी लोगों की आवाज सुनी जाए. हम केवल अपनी आवाज उठाकर सुनिश्चित कर सकते हैं कि दूरगामी रूप से भारत का विचार जीवंत रहे, जो हमारे लिए बहुत पवित्र है. मनमोहन सिंह ने अपने पूर्व कैबिनेट सहयोगी एस जयपाल रेड्डी को श्रद्धांजलि देने के बाद पहली बार जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को हटाने पर अपनी प्रतिक्रिया दी.

फेसबुक या कहीं भी शेयर करो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp

फेसबुक या कहीं भी शेयर करो