धार्मिक, शैक्षणिक कारोबारी भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद को बचाने की हो रही कोशिशें, पीड़ित कानूनी छात्रा ने पत्रकार वार्ता में एक साल यौन शोषण करने का लगाया आरोप ! लड़की को धमका रहे अफसर भी…

 

शाहजहांपुर। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार बलात्कारी स्वामी चिन्मयानंद को बचाने का प्रयास कर रही है। कोर्ट के आदेश के बावजूद उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही। योगी पहले ही साध्वी चिदर्पिता द्वारा दायर कराए गये यौन शोषण का मुकदमा वापस ले चुकी है। बलात्कारियों और अन्य तरह के अपराधियों को भाजपा बचाती रही है। चिन्मयानंद पर अपहरण का आरोप लगाने वाली लड़की ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। लड़की ने आरोप लगाया कि स्वामी चिन्मयानंद ने उसका रेप किया और एक साल तक शारीरिक शोषण किया। अपने चेहरे को काले कपड़े से ढककर मीडिया के सामने आई लड़की ने यह भी आरोप लगाया कि शाहजहांपुर पुलिस चिन्मयानंद के खिलाफ रेप केस नहीं दर्ज कर रही है।
लड़की ने आरोप लगाया, चिन्मयानंद ने मेरा रेप किया और उसके बाद एक साल तक शारीरिक शोषण किया। शाहजहांपुर पुलिस ने रेप केस नहीं दर्ज किया। मैं जब दिल्ली में थी तब दिल्ली पुलिस ने केस दर्ज कर उसे शाहजहांपुर पुलिस को फॉरवर्ड किया था, मगर वह अब भी कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। उसने आगे बताया, रविवार को एसआईटी ने मुझसे करीब 11 घंटे पूछताछ की। मैंने उन्हें रेप के बारे में बताया। उन्हें बताने के बाद भी अब तक चिन्मयानंद को नहीं गिरफ्तार किया गया है।
उसने बताया कि इससे पहले जब उसके पिता ने चिन्मयानंद के खिलाफ शारीरिक शोषण के आरोप में मुकदमे की तहरीर दी थी तब मुकदमा दर्ज करना तो दूर, जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह ने उसके पिता को धमकी देते हुए चिन्मयानंद के रसूख का हवाला दिया और बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने को कहा। लड़की ने कहा कि उसके पास सारे साक्ष्य मौजूद हैं। वह कॉलेज हॉस्टल के जिस कमरे में रहती थी उसे सील कर दिया गया है। उसे मीडिया के सामने खोला जाए। सही समय आने पर साक्ष्य (विडियो क्लिप) भी पेश किया जाएगा। लड़की ने कहा कि उसने अपनी और अपने परिवार की सुरक्षा के लिए ही अपना वह विडियो वायरल किया था, जिसमें उसने चिन्मयानंद से जान का खतरा बताया था।
स्वामी चिन्मयानंद के अधिवक्ता ओम सिंह की ओर से दर्ज कराए गए पांच करोड़ रुपए की रंगदारी मांगे जाने के मामले में कथित पीड़िता ने कहा कि इसकी जांच होनी चाहिए। चिन्मयानंद ने जो आरोप लगाया है वह फर्जी है। एक सवाल के जवाब में छात्रा ने बताया कि उसके साथ दिल्ली के होटल में देखा गया संजय सिंह नामक युवक उसका भाई है। पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के कॉलेज में एलएलएम की छात्रा ने 24 अगस्त को एक विडियो वायरल किया था जिसमें उसने चिन्मयानंद पर आरोप लगाया था कि उसने उसकी और कई अन्य लड़कियों की जिंदगी बर्बाद कर दी है। इसके साथ ही उसने अपने और अपने परिवार की जान का खतरा बताया था। विडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने चिन्मयानंद के खिलाफ अपहरण और जान से मारने की धमकी की धाराओं में मामला दर्ज कर लिया था। अगले दिन लड़की की लोकेशन दिल्ली के एक होटल में मिली थी। होटल के विडियो फुटेज में वह किसी लड़के के साथ देखी गई थी। बाद में वह युवती राजस्थान में मिली थी। उच्चतम न्यायालय के आदेश पर राज्य सरकार ने मामले की पड़ताल के लिए विशेष जांच दल गठित किया है, जो मामले की तफ्तीश कर रहा है।

फेसबुक या कहीं भी शेयर करो

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp

फेसबुक या कहीं भी शेयर करो